केजरीवाल बदल रहे हैं राजनीती !!

अरविन्द केजरीवाल ने जब 26 नवम्बर 2012 को एक राजनैतिक दल बनाने की घोषणा की तो उन्होंने मंच से एक बात कही थी की हम राजनीती करने नहीं राजनीती बदलने के लिए राजनीती में आये हैं और आने वाले समय में हम देश की राजनीती में बदलाव लायेंगे और अपनी इसी सोच और स्वच्छ राजनीती के चलते दिसम्बर 2013 में उनके नेतृत्व में बनी आम आदमी पार्टी ने अपने पहले ही चुनाव में दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों में से 28 सीट जीतकर इतिहास रच दिया, इस जीत के चलते ही उन्हें सरकार बनाने का मौका मिला और अरविन्द केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री बने और उन्होंने पूरी दिल्ली की जनता को अपने शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किया यह दिल्ली की जनता के लिए एक बहुत ही अदभुत अनुभव था जब 28 दिसम्बर 2013 को 2 लाख के करीब लोग अपने हाथों में तिरंगा लिये और सिर पर मैं हूँ आम आदमी वाली टोपी लगाए राम लीला मैदान पहुँचे थे

28 दिसम्बर 2013 को जैसे ही अरविन्द केजरीवाल ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली तो उन्होंने सबसे पहला काम ये किया की दिल्ली सरकार की जितनी भी गाड़ियों पर लाल बत्ती लगी थी उन सबसे उन्होंने लाल बत्ती हटवा दी इसमें मुख्यमंत्री और दूसरे मंत्रियों की गाड़ी से भी लाल बत्ती हटवा दी गयी यानि कि जो बरसों से एक VIP संस्कृति चली आ रही थी अरविन्द केजरीवाल ने मुख्यमंत्री बनते ही उसे समाप्त कर दिया अरविन्द केजरीवाल के विरोधियों ने इसे एक नौटंकी करार दिया लेकिन आज हम यह कह सकते हैं की अरविन्द केजरीवाल ने जो VIP संस्कृति की खात्मे की नींव रखी थी वो आज आगे बढ़ रही है, हाल ही में हुए पंजाब विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी ने उम्मीद के मुताबिक तो प्रदर्शन नहीं किया पर पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अरविन्द केजरीवाल से सीख लेकर अपनी सरकार की सभी गाड़ियों से लाल बत्ती हटवा दी, यहाँ यह बताना आवश्यक है कि अमरिंदर सिंह पहले भी पंजाब के मुख्यमंत्री रह चुके हैं और तब वो लाल बत्ती की गाड़ी का इस्तेमाल करते थे पर उस समय आम आदमी पार्टी का उदय नहीं हुआ था और एक भारतीय नागरिक के तौर पर मुझे ख़ुशी होती है कि अब उत्तर प्रदेश के नये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी उत्तर प्रदेश सरकार की सभी गाड़ियों लाल बत्ती हटवा दी है

योगी आदित्यनाथ के इस फैसले के बारे में बोलते हुए उनकी पार्टी भाजपा की नेता केंद्र सरकार की मंत्री उमा भारती ने कहा है की ये चलन राजनीती में अरविन्द केजरीवाल ने आरम्भ किया है जो एक गलत चलन है उमा भारती के बयान से साफ़ पता चलता है कि ये अरविन्द केजरीवाल का प्रभाव है या साफ़ राजनीती है जो धीरे-धीरे जो दूसरे नेताओं को भी प्रभावित कर रही है और ये देश की राजनीती के लिए एक अच्छा संकेत है

Leave a Reply