EVM मशीन पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

हाल ही में हुए पाँच राज्यों के चुनावों के नतीजों के बाद EVM मशीन सवालों में है और अब सुप्रीम कोर्ट वकील एम् एल शर्मा की याचिका पर चुनावों में EVM के इस्तेमाल पर रोक लगाने हेतु 24 मार्च को सुनवाई करेगा, इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट अक्टूबर 2013 में EVM से मतदान को असुरक्षित बता चुका है ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनावों में भाजपा को अप्रत्याशित जीत मिली थी भाजपा और उसके सहयोगी दलों ने कुल 403 सीटों में से 325 पर जीत दर्ज की है और उसी के बाद बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने EVM में फर्ज़ीवाड़े की बात कही थी और पिछले सप्ताह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने भी एक प्रेस कांफ्रेंस कर EVM पर सवाल खड़ा किया था, 2009 के लोकसभा के चुनावों में हार के बाद स्वयं भाजपा EVM पर सवाल खड़ा कर चुकी है ।

दरअसल ज्यादातर जानकर पंजाब में आम आदमी पार्टी की जीत निश्चित मान रहे थे लेकिन आम आदमी पार्टी को सिर्फ 20 सीटें ही प्राप्त हुईं और एक उम्मीदवार को तो 0 वोट प्राप्त हुए तो ये कैसे संभव है की उम्मीदवार और उसका परिवार उसके लिए वोट न करे, अब देखना दिलचस्प होगा कि सुप्रीम कोर्ट का क्या फैसला आता है ।

Leave a Reply