क्या मीडिया ने अमित शाह से डरकर संपत्ति में 300 प्रतिशत इजाफे के खबर हटाई

यह ख़बर टाइम्स आॅफ इंडिया के अहमदाबाद संस्करण और आउटलुक एवम् डीएनए ने शनिवार को छापी थी, लेकिन प्रकाशन के कुछ ही घंटों में अख़बार की वेबसाइट से हटा ली गई। ख़बर क्यों हटाई गई, इस बारे में अख़बार की तरफ से कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया है. अख़बार के संपादकों की तरफ से आधिकारिक रूप से इसकी कोई ज़िम्मेदारी भी नहीं ली गई है कि ख़बर क्यों हटा ली गई।

इस ख़बर में बताया गया था कि कैसे पांच साल में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की संपत्ति बढ़ गई है. 2012 के गुजरात विधानसभा चुनाव में उन्होंने जो हलफनामा दाखिल किया था और 2017 में राज्यसभा के लिए जो हलफनामा दाखिल किया है, उसके मुताबिक उनकी संपत्ति में 300 प्रतिशत का इज़ाफा हुआ है।

इस ख़बर में यह भी लिखा था कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी द्वारा राज्यसभा चुनाव के लिए दिए गए हलफनामे के मुताबिक उनकी कॉमर्स की बैचलर डिग्री अभी पूरी नहीं हुई है.

स्मृति ईरानी 2014 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी के खिलाफ अमेठी से चुनाव लड़ी थीं, जहां अपने हलफनामे में उन्होंने अपनी शैक्षणिक योग्यता दिल्ली विश्वविद्यालय के स्कूल आॅफ करेस्पॉन्सडेन्स से बीकॉम पार्ट वन, 1994 बताया था।

यही जानकारी उन्होंने 2011 के राज्यसभा चुनाव में भी दी थी, लेकिन 2004 के लोकसभा चुनाव में वे दिल्ली के चांदनी चौक से चुनाव लड़ी थीं, जिसमें ईरानी ने बताया था कि वे 1996 में दिल्ली विश्वविद्यालय के स्कूल आॅफ करेस्पॉन्सडेन्स से बीए हैं।

यह ख़बर टाइम्स आॅफ इंडिया के सहयोगी संस्थानों जैसे नवभारत टाइम्स, इकोनॉमिक टाइम्स में भी छपी थी, लेकिन यह ख़बर वहां से भी हटा ली गई।

Leave a Reply