दिल्ली तुझे केजरी पे भरोसा नहीं क्या?

रेडियो रैड एफएम की रेडियो जॉकी मलिश्का द्वारा जब से मुंबई की सड़कों में गड्डों के ऊपर एक रैप गाना गाया है “मुम्बई तुला सोनू ” तब से इसकी तर्ज़ पर कई लोगों ने ऐसे ही गाने बनाये हैं।अब इसी कड़ी में दिल्ली के बच्चों ने एक गाना बनाया है इस गाने के जरिये बच्चों ने अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा अब तक किये गए कामों का विवरण दिया है। गाने की शुरुआत में बच्चे पूछते हैं की दिल्ली तुझे केजरी पे भरोसा नहीं क्या?

फिर गाने आगे बढ़ता है और बच्चे बताते हैं की किस प्रकार आम आदमी पार्टी की सरकार बनते ही 2015 में अरविंद केजरीवाल सरकार ने बिजली के बिल आधे कर दिये अर्थात पहले जिसका बिल 100 रुपये आता था अब उसका बिल 50 रुपये ही आता है और ये बात एकदम सच है। फिर आगे केजरीवाल सरकार द्वारा प्रत्येक घर को 20 हज़ार लीटर पानी प्रति माह मुफ्त देने की बात की गई है । यह फैसला भी केजरीवाल ने सरकार बनते ही प्रत्येक घर को प्रतिमाह 20 हजार लीटर पानी मुफ्त देना शुरू कर दिया था क्योंकि उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान दिल्ली की जनता से वादा किया था कि उनके सरकार बनाते ही वो प्रत्येक घर को 20 हजार लीटर प्रतिमाह मुफ्त पानी देंगे।

फिर गाना और आगे बढ़ता है और बच्चे शिक्षा के क्षेत्र में मनीष सिसोदिया द्वारा किये गए काम के बारे मे बताते हैं। दिल्ली की केजरीवाल सरकार में उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने जो सरकारी स्कूलों में सुधार का काम किया है वो अतुलनीय है।मनीष ने 2 साल के अंदर-अंदर 25 नए स्कूल , 8000 नये क्लासरूम बनवाये और स्कूल के प्रिंसिपल एवं शिक्षकों को ट्रेनिंग के लिए कैंब्रिज यूनिवर्सिटी और आईआईएम जैसे संस्थानों में भेज कर ट्रेनिंग करवाई और उसीका नतीजा है कि पिछले 2 साल से जब से आम आदमी पार्टी की सरकार दिल्ली में बनी है तब से दोनों बार दिल्ली के सरकारी स्कूलों रिजल्ट निजी स्कूलों से बेहतर आया है और निजी स्कूलों के छात्र भी दिल्ली के सरकारी स्कूलों में दाखिला ले रहे हैं। मनीष सिसोदिया अभी और 10000 क्लासरूम बनवा रहे हैं ताकि एक कक्ष में 40 या 50 से ज्यादा छात्र ने हों अन्यथा तो सरकारी स्कूलों में एक कक्ष में 150 बच्चों के लगभग होते हैं।

इसके आगे के हिस्से में बच्चे केजरीवाल सरकार द्वारा स्वास्थ्य के क्षेत्र में किये गये कार्यों के बारे में बताते हैं। जब से दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बनी है शिक्षा के अलावा इस सरकार का सबसे ज्यादा ध्यान स्वास्थ्य सेवाओं पर है तभी दिल्ली का स्वास्थ्य बजट कुल बजट का 12% है जो शिक्षा के बाद सबसे ज्यादा है। दिल्ली का शिक्षा बजट लगभग 25% है। यही कारण है कि अब दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में मरीजों को सारी दवाएं मिल जाती हैं और यदि दवा ना मिले तो उसके लिए सरकार की तरफ से एक नंबर जारी किया गया है जिसका इस्तेमाल कर मरीज सारी दवाएं प्राप्त कर सकते हैं। सरकारी अस्पतालों के अलावा दिल्ली सरकार ने 120 मोहल्ला क्लीनिक और 23 पोलीक्लीनक भी खोले हैं। यदि आपको बहुत बड़ी कोई बीमारी नहीं है तो बड़े अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं है। दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक की तारीफ वैसे तो विश्व भर में ही रही है परंतु इसे बल जब मिला जब यूनाइटेड नेशन्स के पूर्व जनरल सेक्रेटरी कॉफी अन्नान ने चिट्ठी लिखकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को मोहल्ला क्लीनिक जैसी व्यवस्था बनाने के लिए बधाई दी।इसके अलावा दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित मेडिकल मैगज़ीन “लसेस्ट” में भी मोहल्ला क्लीनिक पर लेख लिखा गया है।

यह वीडियो 47 सेकंड का है और ठीक बवाना उपचुनाव से पहले आया है देखना दिलचस्प होगा कि इस उपचुनाव में वहाँ की जनता केजरीवाल पर कितना भरोसा करती है।

वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें।

वीडियो:अलका लाम्बा ने मस्जिद के नाम पर भड़काने वाले की बोलती बंद कर दी


आम आदमी पार्टी की विधायिका अलका लाम्बा अपने विधानसभा क्षेत्र चाँदनी चौक में एक जगह बिजली का ट्रांसफार्मर लगवाने के लिए पहुँची हुईं थीं, लेकिन जिस जगह पर ट्रांसफार्मर लगाना था उस पर कई वर्षोँ से कुछ लोगों ने अवैध कब्जा कर रखा था और वो इसका किराया भी सरकार को नहीं दे रहे थे। जैसे ही अलका लाम्बा ने कहा कि जगह खाली करो यहाँ ट्रांसफार्मर लगना है तो वहाँ लोगों ने उनका विरोध शुरू कर दिया और कहने लगे कि हम अगली बार आपको वोट नहीं देंगे।
जब अलका ने ये बात सुनी तो उन्होंने कहा कि आप मुझे हरा देना लेकिन मैं लोगों को गर्मी से नहीं मरने देंगी। इसके बाद लोग अलका से और ज्यादा बहस करने लगे तो अलका ने कहा कि एक तो आप लोगों ने 20 वर्षों से इस सरकारी जगह पर अवैध कब्जा किया हुआ है नोटिस देने के बावजूद इसे खाली नहीं करते और ना ही कोई किराया देते हैं यदि देते तो कई विधवाओं को पेंशन मिलने लग जाती। इसके बाद अलका ने कहा मैं आपको 10 मिनट का समय देती हूँ लेकिन लोग नहीं माने तो फिर अलका खुद ही आगे बढ़ने लगीं।
नीचे देखें वीडियो

जब अलका आगे बढ़ने लगीं तो जिस व्यक्ति ने कब्जा किया हुआ था वो मस्जिद की बात करने लगा , मस्जिद की बात सुनते ही अलका को गुस्सा आ गया और उन्होंने कहा कि आपको शर्म आनी चाहिए। आप जैसे लोग हर बात में मंदिर मस्जिद निकालते हैं जब बिजली नहीं आएगी तो आप ही अलका मुर्दाबाद केजरीवाल मुर्दाबाद चिलायेंगे और इसके बाद अलका लांबा ने भारत माता की जय और इंकलाब जिंदाबाद के नारे लगाये तो वहाँ मौजूद भीड़ ने तालियों के साथ अलका का साथ दिया । फिर अलका ने उस जगह का ताला खुलवा कर वहाँ ट्रांसफार्मर लगवा दिया।